एसईओ से रिलेटेड बेसिक टर्म – Basic SEO Meaning In Hindi

0
158
Basic SEO Meaning In Hindi

SEO Ka full form – Search Engine Optimization यानि SEO के बारेमे हम पिछले पोस्ट में जानेथे आज हम Basic SEO Meaning In Hindi यानि seo related terms जितने है उन सभी अच्छे से समझेंगे| में कोसिस करूँगा seo related terms जितने है सभी को सामिल हो, अगर आपको लगे की कुछ basic terms छुट गया है तो आप हमें comment जरुर करे|

ब्लॉग की जितने पोस्ट है उन सभी को SEO Friendly बनाने के बाद ज्यादा चान्स है आपकी ब्लॉग पोस्ट गूगल में रैंक हो| इसलिए आपको common seo terms के बारेमे अच्छे जानना होगा|

जितने ब्लॉगर है और हम जो भी पोस्ट लिखते वह चाहते है गूगल की फर्स्ट पेज पर रैंक हो ताकि ब्लॉग पर भर-भर के ट्रैफिक आए| इसलिए, ब्लॉग पर पोस्ट कैसे लिखते है जान ले और quality content लिखे| पोस्ट लिखते SEO को ध्यान में रख कर पोस्ट लिखते है तो आपकी पोस्ट जल्दी रैंक करेगा|

चलिए जान लेते है उन सभी Basic SEO Meaning In Hindi में.

एसईओ से रिलेटेड बेसिक टर्म – Basic SEO Meaning In Hindi

On Page SEO: SEO की दो प्रकार में से एक है| इसकी मद्दत से आप अपनी ब्लॉग को seo friendly बना सकते है जो की ब्लॉग को रैंक करने में काफी मद्दत मिलती है| On Page SEO Texts, Images, Tags, URL, Headers में इस्तेमाल किया जाता है| seo wordpress and blogger ब्लॉग की अच्छी तरह करे|

Off Page SEO: SEO की दूसरी प्रकार है| यह एक SEO technique है जो की ब्लॉग को रैंक कराने के लिए किया जाता है| Off Page SEO का जितने काम होते है वह सभी ब्लॉग की बाहर की काम होती है| जैसे की Guest Post करना, Backlink बनाना, Web Directory Submission, Social Linking आदि|

Black Hat SEO: इस seo technique का इस्तेमाल करके आप अपने ब्लॉग पर इंस्टेंट ट्रैफिक ला सकते है| मगर इस तरहा से ट्रैफिक ब्लॉग पर लेते है तो Long-Term Blogging के लिए सभी नहीं होता है गूगल के तरफ से ब्लॉग पर penalty लगा सकता है|

White Hat SEO: यह ब्लॉग के लिए SEO technique जो 100% genuine है| Black Hat SEO की मद्दत से ब्लॉग पोस्ट रैंक करते है तो ब्लॉग पर penalty लगती है मगर White Hat SEO की मद्दत से ब्लॉग पोस्ट को रैंक कराते है तो ब्लॉग पर कोई penalty नहीं लगती, पोस्ट गूगल पर रैंक करता है| यह पढ़े: Black Hat And White Hat SEO me kya different hai?

No-Follow: इसे attribute भी कहते है, जो की anchor text में इस्तेमाल किया जाता है| search engine यह बताता है की उस लिंक को सर्च में लाये या नहीं|

Do-Follow: Do-Follow वह हैं जो बॉट्स को आपकी वेबसाइट को क्रॉल और स्कैन करने की अनुमति देते हैं और सामग्री को कॉपी करने की भी अनुमति देते हैं।

Alt Text: यह आपका पोस्ट के लिए काफी important होता है| आप अपने एक keyword के टारगेट करके पोस्ट लिखे और वह पोस्ट रैंक नहीं हुवा इन केस Alt Text काफी काम आएगी| हरेक पोस्ट में मिनिमम एक इमेज इस्तेमाल करना जरूरी है, जिस कीवर्ड पर पोस्ट रैंक नहीं हुवा उस्सी कीवर्ड पर पोस्ट की इमेज रैंक करा के ट्रैफिक ले सकते है|

जब कोई इमेज अपने ब्लॉग में इस्तेमाल करते है तो गूगल उस इमेज को पहचान नहीं पता इसलिए Alt Text की मद्दत से गूगल को जानकारी करा सकते है की वह इमेज की कीवर्ड से रिलेटेड है और आपकी पोस्ट रैंक करेगा|

Backlink: Backlinks in seo में हमारे ब्लॉग पर ट्राफिक लाने का सबसे बेस्ट तरीका है और गूगल भी अनुमति देता है| अगर आप Quality Backlink बनाते है तो ब्लॉग पर हर तरहा से फायदा होता है| Backlink कई तरीके से बना सकते है, निचे की पोस्ट में बताया हु की Backlink क्या होता है और ब्लॉगर के लिए क्यों जरूरी है| पढ़े:

Backlink क्या है और ब्लॉगर के लिए क्यों जरुरी है?

Anchor Text: किसी दुसरे पेज की लिंक के लिए इससे इस्तेमाल कर कसते है| आप चाहे हो अपने इमेज में भी इससे इस्तेमाल कर सकते है|

Keywords: seo keywords जो आपकी ब्लॉग पोस्ट के लिए जरूरी होता है| किसी Keyword को अच्छे research किये बिना उस कीवर्ड पे पोस्ट को रैंक नहीं करा सकते है| कीवर्ड की कितना सर्च वैल्यू है, Competition कितना है जान्ने के बाद उस कीवर्ड पर पोस्ट लिखे| Keyword को अच्छे से समझने के लिए पढ़े Keyword क्या होता है? पढ़ सकते है|

Meta Title: Meta Title आपकी पोस्ट या आर्टिकल की टाइटल होते है जो की आपकी content को describe करता है| अच्छी टाइटल इस्तेमाल करने से ही यूजर पसंद करते है और ब्लॉग पर विजिट करते है| जभी कोई पोस्ट लिखे तो टाइटल को attractive बनाये|

Meta Description: Meta Description पोस्ट की short description होता है जिसमे गूगल और यूजर को बताते है की इस पोस्ट में क्या-क्या जानकारी मिल सकता है| इसमें आप अपने पोस्ट से रिलेटेड keywords इस्तेमाल करे ताकि search engine समझे और पोस्ट को रैंक करे|

Sitemap: Sitemap में आपकी ब्लॉग की पूरी Information होती है जिससे सभी सर्च इंजन में सबमिट करना होता है और Search Engines हमारे ब्लॉग को अपने रिजल्ट में show करता है| Sitemap को अच्छे से समझने के लिए Sitemap क्या है? पोस्ट पढ़े|

Robots.Txt File: इससे ब्लॉग पर इस्तेमाल करना जरुरी होता है, ब्लॉग पर कई सारे ऐसे कंटेंट होते है जिससे हम दुसरे को दिखाना नहीं चाहते| इसलिए Robots.Txt File इस्तेमाल करते है| ब्लॉग पर Robots.Txt File कैसे लगाए सभी जानकारी जाने|

Pagerank (PR): Google किसी भी keyword को 0-10 तक rank करता है, जो की उनकी ब्लॉग की quality और SEO score को देख कर करता है|

सो, आप Basic SEO Meaning In Hindi और उसके मीनिंग अच्छे से जान गए होंगे| अगर इससे रिलेटेड कोई भी सवाल है तो कमेंट जरुर करे|

एसईओ की पूरी जानकारी में

अगर आप कही से seo tutorial को देख seo course कर लेते है तो मार्किट में आपको आसानी से जॉब मिल सकता है| बड़े-बड़े कंपनियों जॉब पोर्टल साईट पर seo job से रिलेटेड पोस्ट डालते रहते है| एसईओ कोर्स करने के बाद अप्लाई कर सकते है|

अगर आप भी अपने घर बैठे कुछ जॉब करना चाहते है तो यहाँ कुछ घर बैठे काम है जिसे आसानी से कर सकते है|

उम्मीद करता हु की Basic SEO Meaning In Hindi में जानकारी अच्छी लगी होगी, अच्छी लगी है तो अपने उन दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे जो SEO Meaning In Hindi में जानना चाहते है|

ब्लॉग्गिंग में करियर क्यों चुने जान सकते है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here