RBI Digital Rupee Kya Hai और Digital Rupee कैसे काम करता है, साथ-साथ क्रिप्टोकरेंसी और डिजिटल रुपी में क्या अंतर है? सभी जानकारी

0
46

यदि आप जानना चाहते है की RBI Digital Rupee Kya Hai और Digital Rupee Kaise Kaam Karta Hai तो इस आर्टिकल को पढ़ सकते है।

आपको बता दे की Budget 2022 मोदी कार्यकाल का 10वां बजट आज यानि 01/02/2022 को संसद में पेश हुआ। अपनी बजट स्पीच के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने आरबीआई की डिजिटल करेंसी पर बड़ा ऐलान किया।

Digital Rupee क्या है और Digital Rupee कैसे कमा करता है

वित्त मंत्री ने कहा कि आरबीआई की डिजिटल करेंसी ‘डिजिटल रुपी’ को नए वित्त वर्ष की शुरुआत में ही लॉन्च कर दिया जाएगा।

आरबीआई (RBI) की डिजिटल करेंसी (Digital Currency) यानी डिजिटल रुपी (Digital Rupee) डिजिटल इकनॉमी को बिग बूस्ट देगा। यह एक एक लीगल टेंडर होगा।

मंगलवार को वित्त मंत्री सीतारमण ने डिजिटल रुपये की घोषणा की है और यहां बताया गया है कि डिजिटल रुपी यानि डिजिटल करेंसी क्या है और यह कैसे काम करेगा?

यह भी जानिए: One Digital Id Kya Hai और सरकार One Digital ID क्यों लाने वाली है?

Digital Rupee Kya Hai? What Is Digital Rupee In Hindi?

आपको बता दे की Digital Rupee Coin एक central bank digital currency (CBDC) फिएट मुद्रा का डिजिटल रूप है और लेनदेन को आसान बनाएगा।

आरबीआई की एक रिपोर्ट ने पहले सीबीडीसी को कुछ ऐसा बताया था जो भौतिक नकदी के लिए एक सुरक्षित, मजबूत और सुविधाजनक विकल्प प्रदान करेगा।

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 1 फरवरी को कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) 2022-23 में एक केंद्रीय बैंक डिजिटल मुद्रा (CBDC) लॉन्च करेगा जिसका नाम Digital Rupee रखा जायेगा।

Rupee Digital Currency बहुप्रतीक्षित डिजिटल मुद्रा के लॉन्च पर केंद्र सरकार का पहला आधिकारिक बयान है।

Budget 2022 वित्त मंत्री ने कहा कि central bank digital currency (CBDC) की शुरुआत से डिजिटल अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा। आरबीआई ने पहले संकेत दिया था कि सीबीडीसी कार्ड पर है जबकि केंद्रीय बैंक निजी आभासी मुद्राओं को अनुमति देने के विचार के खिलाफ है।

CBDC की शुरूआत से भारत की स्थिति को एक डिजिटल अर्थव्यवस्था के रूप में विश्व स्तरीय डिजिटल भुगतान प्रणाली के रूप में बढ़ाया जाएगा।

ये भी जाने: E-RUPI Kya h in Hindi

डिजिटल रुपया कैसे काम करता है?

एक केंद्रीय बैंक डिजिटल मुद्रा एक केंद्रीय बैंक द्वारा डिजिटल रूप में जारी कानूनी निविदा है।

उनका कहना है की एक फिएट मुद्रा (fiat currency) के समान है लेकिन रूप अलग है और सरकार द्वारा जारी धन के साथ एक-से-एक विनिमय योग्य है।

यह एक डिजिटल रूप में है और CBDC हमारे द्वारा उपयोग की जाने वाली कानूनी मुद्रा के समान है। बस यह

एक सीबीडीसी फिएट मुद्रा का डिजिटल रूप है और लेनदेन को आसान बनाएगा। आरबीआई की एक रिपोर्ट ने पहले सीबीडीसी को कुछ ऐसा बताया था जो भौतिक नकदी के लिए एक सुरक्षित, मजबूत और सुविधाजनक विकल्प प्रदान करेगा।

विभिन्न डिजाइन विकल्पों के आधार पर, यह एक वित्तीय साधन के जटिल रूप को भी ग्रहण कर सकता है, आरबीआई की रिपोर्ट में कहा गया है।

क्रिप्टोकरेंसी और डिजिटल रुपी में क्या अंतर है?

आपको बता दे की सीबीडीसी क्रिप्टो करेंसी नहीं है।

सीबीडीसी कानूनी निविदा का डिजिटल रूप है लेकिन निजी आभासी मुद्राएं पूरी तरह से अलग हैं। निजी आभासी मुद्राएं पैसे की ऐतिहासिक अवधारणा के साथ पर्याप्त बाधाओं पर बैठती हैं। वे पण्य वस्तु या वस्तुओं पर दावे नहीं हैं क्योंकि उनका कोई आंतरिक मूल्य नहीं है।

Related Articles:

डिजिटल रुपी लीगर टेंडर होगा?

भारतीय रिजर्व बैंक का सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (CBDC) एक लीगल टेंडर होगा और इसका पूरा भारत के केंद्रीय बैंक के पास होगा।

Digital Rupee एक आम मुद्रा की तरह ही होगा, लेकिन डिजिटल फॉर्मेट में होगा।

जिस तरह से हम किसी सामान या सेवाओं खरीदने के लिए करेंसी देते हैं, उसी तरह CBCD से भी हम लेनदेन कर सकेंगे।

सरल शब्दों Digital Rupee को कहे तो इसका इस्तेमाल हम अपने सामान्य रुपये-पैसे के रूप में कर सकेंगे, बस रुपये-पैसे डिजिटल फॉर्म में होंगे।

यह भी पढ़े:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here