Resume क्या होता है? What Is Resume In Hindi

0
571

Resume Kya Hota Hai: यदि आपने अपने पढाई ख़तम कर चुके है और जॉब की तलाश में है तो आपको Resume बनाने की आवश्यकता होगी। क्योंकि बिना रिज्यूमे फॉर्मेट को आप जॉब नहीं ले सकते है। अगर आप जानना चाहता है की resume meaning in hindi, biodata meaning in hindi तो हमारे साथ बने रहे इस लेख में आपको रिज्यूम क्या होता है और कितने प्रकार के होते है सभी जानकारी निचे दिया गया है।

इस भाग दौर जिन्दगी में पढाई और पढाई के साथ अच्छी करियर होना अतंत्य जरूरी है। जब हमारा पढाई ख़तम हो जाता है तब से अपने Jobs & Career बनाने में लग जाते है और पढाई के बाढ़ जॉब करना जरुरी बन जाता है। हमारा जॉब लगना हमारे लिए बहुत बड़ी बात होती है यह सब बहुत चीज पे Depend करता है उसमे से एक हमारी रिज्यूम इमेज का भी यहम भूमिका होता है।

रिज्यूमे बनाने का उद्देश्य संभावित नियोक्ताओं को आपके कौशल, क्षमताओं और उपलब्धियों का सारांश प्रदान करना है। यह एक त्वरित विज्ञापन है कि आप कौन हैं। रिज्यूमे प्रारूप, दी गई जानकारी और लेखन की गुणवत्ता की तुलना में बहुत कम महत्वपूर्ण हैं।

Resume kya hota hai

यदि आपके पास बताने के लिए एक अच्छी कहानी है, तो लगभग कोई भी दस्तावेज़ टेम्पलेट काम करेगा। यहां आपके रिज्यूमे की जरूरी चीजें दी गई हैं जो की रिज्यूमे बनाने से पहले “resume for freshers” जो लोग नए होते और और नौकरी करना चाहते है उसके लिए काम की यह लेख है।

Also Read:

rezoom के बारेमे अच्छे से जानकारी की Resume क्या होता है?, Resume बनाना क्यू जरुरी है? और Resume के बिभिन्न प्रकार और रिज्यूमे क्या है इसके महत्व को स्पष्ट कीजिए?

Resume Kya Hota Hai? What Is Resume In Hindi

Resume Kaise Banaye “रिज्यूम कैसे बनाये” जानने से पहले resume meaning in hindi रिज्यूम का मतलब क्या होता है समझना बहुत ही जरुरी है तो चलिए जानते है की आखिर Resume kya hota hai और resume kaise taiyar kare?

Resume Meaning In Hindi: “रिजूम एक ऐसा दस्तावेज होता है जिसका उपयोग एक व्यक्ति द्वारा अपना बैकग्राउंड, कौशल तथा प्राप्तियों को दर्शाने के लिए बनाया जाता है. इसे कई कारणों से बनाया जाता है, लेकिन अधिकतर इसे नया जॉब ढूढ़ने के लिए उपयोग किया जाता है.”

यह है resume meaning in hindi में जो Wikipedia द्वारा परिभाषित किया गया है। इस परिभाषा से यह स्पष्ट हो जाता है की उस व्यक्ति ने क्या-क्या उपलब्धि हासिल की है। Resume देख कर की Recruiters किसीको जॉब देती है।

Ghar Baithe Business Konsa Kare – पार्ट टाइम बिजनेस आईडिया

World की कोई भी जॉब करे resume sample की जरुरत होती है। Resume में हमारी नाम, एजुकेशन, हॉबी, achievement सब कुछ होता है। जिससे दिख कर Recruiters नौकरी provide करती है। उम्मीद करता हु की आप Resume Kya Hota Hai अच्छे से समझ चुके होंगे।

Resume बनाना क्यू जरुरी है?

बहुत लोग resume builder को जरुरी नहीं समझते है की Resume, CV या Biodata कुछ भी न बनाने हमारा Jobs लग जायेगा। लेकिन, जॉब्स लगना हमारे किस्मत पर होता है, नौकरी रिज्यूमे आपको 12th पास होने के बाद ही बना लेनी चाहिए।

रिज्यूम हमारी प्रतिनिधित्व करता है और Resume की आवश्यकता सभी जगह तो नहीं होता फिर भी naukri resumes के लिए आबेदन करनी हो तो रिज्यूम होना ही चाहिए।

रिज्यूमे बनाने की वेबसाइट है जाहा से आप अपने लिए अच्छी रिज्यूमे फॉर्मेट डाउनलोड कर सकते है।

Resume के बिभिन्न प्रकार – Types Of Resume in Hindi

Resume format अपने फील्ड के अनुसार फरक होता है। हम अगर Resume बनाने की सोचते है तो नजिक की Cyber Cafe की सहारा लेते है या Google से Resume templates download करके बना लेते है लेकिन कभी नहीं सोचते है की Resume की विभिन्न प्रकार भी होते है और कहा-कहा इस्तेमाल होते है। आपको लोगों को जानकारी के लिए बता दू की Resume 4 प्रकार के होते है, इसे अच्छे से समझने के लिए निचे पढ़े:

यह भी पढे:

#1. Chronological Resume

Chronological Resume format

Chronological Resume सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला प्रारूप resume format है। वे कार्य इतिहास को कालानुक्रमिक क्रम में सूचीबद्ध करते हैं, जो आपकी सबसे हाल की नौकरी से शुरू होकर आपके जल्द से जल्द तक है। यह फिर से शुरू अधिकांश नियोक्ताओं द्वारा पसंद किया जाता है क्योंकि यह कार्य इतिहास का एक त्वरित स्नैपशॉट प्रदान करता है, जिसमें सबसे हाल की स्थिति सामने होती है।

यह मूल रेज़्यूमे टाइप उन लोगों के लिए सबसे अच्छा है, जिनके पास ठोस रोजगार पृष्ठभूमि है, जिनके कार्य इतिहास में कोई कमी नहीं है। यह भी फायदेमंद है यदि आपका अधिकांश अनुभव उस नौकरी के साथ मेल खाता है जिसमें आप रुचि रखते हैं।

आम तौर पर, पिछले 10-15 वर्षों को फिर से शुरू पर सूचीबद्ध किया जाना चाहिए। सबसे वर्तमान स्थिति से शुरू करें और पिछड़े काम करें। यह पत्थर में नहीं लगाया गया है कि केवल पूर्णकालिक नौकरियों को सूचीबद्ध किया जाना चाहिए, अंशकालिक पदों, स्वयंसेवक काम, या कुछ और को शामिल करें जो आपके द्वारा पेश किए जाने वाले कौशल पर जोर देगा।

गांव कौन सा बिजनेस करे? जानकारी के लिए पोस्ट पढ़ सकते है।

#2. Functional Resume

Functional Resume format

Functional Resume एक फिर से शुरू आपके कौशल और अनुभव पर केंद्रित है और आपके कार्य इतिहास पर जोर देता है। रोजगार इतिहास आपके द्वारा पेश की जाने वाली क्षमताओं के लिए माध्यमिक है।

यदि आपके पास रोजगार है, तो यह मूल रिज्यूम प्रकार बेहतर है। अंतराल किसी भी कारण से हो सकता है जैसे परिवार, बीमारी या नौकरी छूटना।

यह नए स्नातकों के लिए भी फायदेमंद है जिनके पास सीमित रोजगार का अनुभव है या वे लोग हैं जो कैरियर में बदलाव के बीच में हैं। जिन लोगों के पास बिना ध्यान केंद्रित कैरियर पथ के साथ विविध व्यवसाय हैं, उन्हें यह मूल फिर से शुरू होने वाला प्रकार सहायक होगा।

#3. Combination Resume

Combination Resume format

Combination Resume उनसके लिए फायदेमंद है जो अपने कौशल और लक्षणों को उजागर करते हैं और अपने कार्य अनुभव की एक कालानुक्रमिक सूची प्रदान करते हैं। यह आपको अपने कार्यस्थल की संपत्ति को सूचीबद्ध करने और यह दिखाने के लिए एक लचीला मंच देता है कि आप किस तरह के कर्मचारी हैं।

आपको अपने कौशल और अनुभव दोनों का विवरण देता है, साथ ही कार्य इतिहास की कालानुक्रमिक सूची के साथ इसका समर्थन भी करता है। प्रकृति में लचीला, संयोजन फिर से शुरू करने से आप संभावित नौकरी के उद्घाटन के लिए तैयार हो सकते हैं और प्रबंधकों को एक कहानी भर्ती कर सकते हैं।

#4. Targeted Resume

Targeted Resume को आप जिस संभावित नौकरी की तलाश कर रहे हैं, उसके लिए विस्तार से अनुकूलित किया गया है। आपके उद्देश्य, आपकी योग्यता से लेकर एजुकेशन अनुभव तक सब कुछ नौकरी की आवश्यकताओं को दर्शाता है। Targeted Resumeसबसे अधिक समय लेने वाले होते हैं, लेकिन योग्यता और अनुभव के रूप में सर्वोत्तम परिणाम उत्पन्न कर सकते हैं, जो संभावित नौकरी के उद्घाटन को बारीकी से दर्शाते हैं।

आत्‍मनिर्भर भारत अभियान – 20 लाख करोड़ का आर्थिक पैकेज 

Resume, CV and Biodata में क्या अंतर है?

कैसे सारे लोग Resume Kya Hota Hai, बायोडाटा क्या है, सीवी क्या होता है इन में उलझे हुए रहते है और इन तीनो शब्द को एक ही मान लेते है। लेकिन ऐसा नहीं सभी अलग-अलग है और भिन्न अर्थ तथा उदेश्य है।

तीनो के एक-एक करके समझ लेते है।

Resume: रिज्यूम का meaning बायोडाटा ही होता है और रिज्यूम में हमारी शैक्षिक योग्यताओं का संक्षिप्त विवरण है।

इसको नए जॉब दुन्दने के लिए बनाया जाता है, इसका खासकर इंडस्ट्री में डिमांड रहती है। यह लगभग 2 पत्रों पर बनाया जाता है।

CV: CV Ka full form: Curriculum Vita होती है, यानि की जीवन क्रम. सिभी शैक्षिक योग्यताओं का संक्षिप्त विवरण है।

यह भी जॉब दुन्दने के लिए बनाया जाता है और यह शैक्षिक, मेडिकल, विज्ञान और कानून तक सिमित है. आमतौर पर CV की लम्बाई 4 पत्रों तक होती है जिससे घटा बढ़ा सकते है।

Biodata: Biodata means जीवन-वृत. इससे भी जॉब के लिए इस्तेमाल किया जाता है खासकर सरकारी तथा संबंधित कार्यों के लिए. इसका लम्बाई भी 2 पत्रों तक होता है और इसमें पूरी जानकारी होती है उस व्यक्ति की।

Resume Kaise Taiyar Kare

अगर आप अपनी खुद की रिज्यूमे बनाना चाहते है तो पीछे पोस्ट में रिज्यूमे कैसे बनाये जानकारी शेयर कर चूका हु, आप पढ़ सकते है। अगर आप रिज्यूम फॉर्म pdf फाइल डाउनलोड करना चाहते है तो निचे अपनी रिज्यूमे फॉर्मेट दे रहा हु आज एडिट करके अपना रिज्यूमे बना सकते है।

naukri resume sample

Conclusion

तो आप ने Resume kya hota hai? यह कितने प्रकार के होते है पूरी जानकरी आपने जाने है। Resume kaise banaye आगे की post में जानेंगे, रिज्यूमे बनाने की वेबसाइट कोन-कोन है यह भी जानेंगे।

उम्मीद करता आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी अच्छी लगी है तो comment करके जुरूर बताये और आपकी कोई सवाल है तो comment जरुर करे।

अगर आप अपना बिजनेस करना चाहते है तो अपनी खुद बिजनेस करने के फायदे क्या है जाने।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here