बिटकॉइन क्या है और कैसे काम करता है?

0
198

यदि आप डिजिटल करेंसी यानि बिटकॉइन के बारे में जानना चाहते है तो इस लेख को पढ़ सकते है। इस लेख में बिटकॉइन क्या है?, बिटकॉइन प्राइस इंडिया क्या है?, 1 बिटकॉइन की कीमत कितनी है?, बिटकॉइन कैसे खरीदें और फ्री में बिटकॉइन कैसे कमाए? सम्पूर्ण जानकारी दिया गया है।

क्रिप्टो करेंसी का प्रयोग तेजी से बढ़ता जा रहा है विश्व के अधिकांश देश ने क्रिप्टो करेंसी को मान्यता दे दी है। क्रिप्टो करेंसी में सबसे पावरफुल करेंसी बिटकॉइन को माना जाता है। इसलिए, सायद बिटकॉइन का भविष्य 2022 में उज्वल होने वाला है।

अधिकांश देशों में बिटकॉइन का सबसे अधिक प्रयोग होता है और क्रिप्टोकरंसी में बिटकॉइन सबसे ज्यादा महंगा है। यदि आप भी बिटकॉइन को कैसे खरीदे? सोच रहे है तो कई चीजों के बारे में ध्यान देना चाहिए।

इसलिए, moneyinnovate.com की टीम इस लेख में बताने वाली हैं कि बिटकॉइन क्या है, बिटकॉइन का प्रयोग कैसे होता है वर्तमान समय में बिटकॉइन का क्या रेट है, बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं, बिटकॉइन को कैसे खरीदें इन सभी बातों की जानकारी आपको इस आर्टिकल में दी जाएगी।

Related Articles:

बिटकॉइन क्या है?

बिटकॉइन एक डिजिटल करेंसी है। बिटकॉइन का अभी तक भौतिक स्वरूप नहीं प्राप्त हुआ है। बिटकॉइन को हम ना देख सकते हैं और ना छोड़ सकते हैं। बिटकॉइन का हम प्रयोग केवल डिजिटल रूप से कर सकते हैं।

बिटकॉइन क्रिप्टो करेंसी है और ब्लॉकचेन पर आधारित है। दुनिया में नई नई टेक्नोलॉजी का प्रयोग तेजी से हो रहा है और कई सारे देशों ने बिटकॉइन डिजिटल करेंसी को मान्यता दे दी है।

बिटकॉइन को ना तो आप देख सकते हैं ना ही छू सकते हैं। 2009 में बिटकॉइन को जापान के व्यक्ति नाकामोतो ने बनाया। 2009 में बिटकॉइन का रेट भारतीय रुपए में ₹5 से भी कम था और 2021 में बिटकॉइन का रेट 35,84,514.14 रुपए हैं।

जिन लोगों ने 2009 के समय में बिटकॉइन में इन्वेस्ट किया होगा अच्छा रिटर्न प्राप्त हुआ होगा। बिटकॉइन ब्लॉकचेन पर आधारित होने के कारण तेजी से प्रसिद्ध होती जा रही है। बिटकॉइन को कोई भी आसानी से हैक नहीं कर सकता है।

बिटकॉइन किस देश की करेंसी है?

बहुत से लोगों के मन में सवाल होगा कि बिटकॉइन किस देश की करेंसी है। आपकी जानकारी के लिए बता दें बिटकॉइन किसी भी देश की करेंसी नहीं है, हालांकि बिटकॉइन का निर्माण जापान में हुआ है लेकिन यह जापान की भी करेंसी नहीं है और ना ही इस करेंसी को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किसी संस्था के द्वारा मान्यता प्राप्त हुई है और ना ही इसे कोई देश हैंडल करता है।

जापान में बिटकॉइन का निर्माण हुआ लेकिन जापान ने इसे अभी तक मान्यता नहीं दी है। बिटकॉइन को मान्यता देने वाले देश अमेरिका ऑस्ट्रेलिया, एल साल्वाडोर, आदि है। रसिया, चाइना, इंडिया इन देशों ने अभी तक बिटकॉइन को मान्यता नहीं दी है।

बिटकॉइन का प्रयोग कैसे और कहां करते हैं?

बिटकॉइन का प्रयोग ऑनलाइन काम के लिए करते हैं। अगर आप किसी भी अन्य देश के साथ व्यापार करते हैं तो आप बिटकॉइन में भुगतान कर सकते है।

उदाहरण के लिए अगर कोई व्यक्ति भारत से अमेरिका जाता है और उस व्यक्ति के पास अमेरिकन करेंसी नहीं है और बिटकॉइन है तो वह व्यक्ति वहां पर बिटकॉइन से समान को खरीद सकता है। क्योंकि अमेरिका में बिटकॉइन को लीगल माना गया है।

बिटकॉइन का प्रयोग करने के लिए सबसे पहले आपको किसी भी प्लेटफार्म से बिटकॉइन को खरीदना होगा। बिटकॉइन को खरीदने के बाद ही आप इसका प्रयोग कर सकते हैं।

बिटकॉइन की शुरुआती कीमत क्या थी?

बिटकॉइन की कीमत शुरुआत में बहुत ही कम थी 2009 में बिटकॉइन को बनाया गया था और इसकी कीमत तब ₹5 के आसपास थी और वर्तमान समय में बिटकॉइन 5000000 से भी ऊपर पहुंच गया है।

अगर आप ही बिटकॉइन को खरीदना चाहते हैं तो आपको एक Bitcoin के लिए ₹5000000 इन्वेस्ट करने पड़ेंगे। बहुत से लोग बिटकॉइन में तेजी से इन्वेस्ट करते जा रहे हैं क्योंकि उन्हें लग रहा है कि आने वाले टाइम में बिटकॉइन का प्रयोग होने वाली है और इससे इसकी वैल्यू और तेजी से बढ़ेगी।

घरेलू महिलाओं के लिए पार्ट टाइम बिजनेस आइडियाज 2022 शुरू करके अच्छी कमाई करे

बिटकॉइन में ब्लॉकचेन क्या है?

बिटकॉइन क्रिप्टो करेंसी इसलिए लोकप्रिय हो रही है क्योंकि बिटकॉइन ब्लॉकचेन पर आधारित है। अगर कोई भी व्यक्ति बिटकॉइन को खरीदता है तो उसका सारा डाटा कंप्यूटर में नहीं बल्कि कंप्यूटर पर स्टोर किया जाता है जिससे किसी भी व्यक्ति का डाटा अन्य व्यक्ति नहीं चुरा सकता है। बिटकॉइन को आसानी से हैक भी नहीं किया जा सकता है।

अगर कोई व्यक्ति बिटकॉइन को हैक करना चाहता है तो उसको सभी कंप्यूटर को हैक करना पड़ेगा और जो असंभव है।

बिटकॉइन को कैसे खरीदें?

बहुत से लोग बिटकॉइन के क्रिप्टो करेंसी को खरीदना चाहते हैं। 2021 में गूगल प्ले स्टोर में बहुत सारे एप्लीकेशन लांच हुए हैं जिनके द्वारा बिटकॉइन को बहुत ही आसानी से खरीद सकते हैं।

बिटकॉइन को खरीदने के लिए अभी तक सबसे अच्छा एप्लीकेशन वजीरएक्स माना जा रहा है। अगर आप बिटकॉइन खरीदना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको प्ले स्टोर पर जाकर वजीरएक्स एप्लीकेशन सर्च करके डाउनलोड करना होगा।

वजीरएक्स एप्लीकेशन को डाउनलोड करने के बाद आपको इसमें अपना अकाउंट बनाना होगा।

वजीरएक्स में अकाउंट बनाने के लिए आपके पास पैन कार्ड, आधार कार्ड, फोटो, बैंक के अकाउंट नंबर, मेल आईडी और मोबाइल नंबर होना चाहिए।

वजीरएक्स में अकाउंट बनाने के बाद बिटकॉइन को खरीदने के लिए आपको इंडियन रुपीस को डॉलर में कन्वर्ट करना होगा।

इंडियन रुपीस को अमेरिकन डॉलर में कन्वर्ट करने के बाद भी आप बिटकॉइन को इस एप्लीकेशन के द्वारा आसानी से खरीद सकते हैं।

बिटकॉइन इंडियन में लीगल है या नहीं?

अभी तक बिटकॉइन इंडियन में लीगल है या नहीं इस बात पर प्रश्नचिन्ह लगा हुआ है। 2019 में भारतीय रिजर्व बैंक ने बिटकॉइन को अन लीगल माना था और बिटकॉइन पर बैन लगा दिया था लेकिन बिटकॉइन निवेशक ने सुप्रीम कोर्ट पर याचिका दर्ज की थी जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने बिटकॉइन से बैन हटा दिया था।

बेंगलुरु में सबसे पहला बिटकॉइन एटीएम खोला गया था। 2021 में बिटकॉइन के बारे में न्यूज़ आ रही थी कि भारत में बिटकॉइन को सेंड किया जा सकता है रिजर्व बैंक खुद की डिजिटल करेंसी ला रहा है। भारत बिटकॉइन को अभी तक इसलिए लीगल घोषित नहीं कर रहा है क्योंकि बिटकॉइन को हैंडल करने वाली कोई भी बड़ी अंतरराष्ट्रीय संस्था नहीं है।

बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं इस बात का भी बहुत जल्द उत्तर सरकार दे सकती है। अगर सरकार खुद की डिजिटल करेंसी लाती है तो इसका प्रयोग भारतीय लोग बहुत आसानी से कर सकते हैं और इस डिजिटल करेंसी को हैंडल करने वाला आरबीआई बैंक होगा जो भारत का सबसे बड़ा सरकारी बैंक है।

भारतीय गवर्नमेंट बिटकॉइन को इसलिए भी रेगुलेट कर रही है क्योंकि बिटकॉइन के प्रयोग से साइबर क्राइम तेजी से बढ़ सकता है और बिटकॉइन का प्रयोग आतंकवाद को भी बढ़ावा दे सकता है।

बिटकॉइन को लीगल घोषित ना करने के बहुत से कानून सामने आ रहे हैं। भारत के अलावा रसिया और चाइना ने भी बिटकॉइन को लीगल घोषित नहीं किया है।

2022 तक बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं इस बात का उत्तर मिल सकता है।

Also Read:

बिटकॉइन का मालिक कौन है?

बिटकॉइन का मालिक नाकामोतो नामक व्यक्ति को माना जाता है लेकिन अभी तक ये अज्ञात हैं इन्होंने कभी भी सामने आकर के बारे में कोई भी स्टेटमेंट नहीं दिया है।

नाकामोतो को जापान का नागरिक माना जाता है और माना जाता है कि इन्होंने ही ब्लॉकचेन का प्रयोग करके बिटकॉइन का निर्माण किया लेकिन 1902 में लॉकचैन का प्रयोग डिजिटल डॉक्यूमेंट को रखने के लिए किया गया था। लेकिन डिजिटल करेंसी में ब्लॉकचेन का प्रयोग नाकामोतो जापानी व्यक्ति ने किया। लेकिन बहुत से लोगों का मानना है कि नाकामोतो बिटकॉइन के मालिक नहीं है क्योंकि यह एक ओपन सोर्स डिजिटल करेंसी है और इसे डिजिटल रूप से वॉलेट में स्टोर किया जाता है। बिटकॉइन भी P2P प्रणाली पर निर्भर है।

सतोषी नाकामोतो ने अभी तक ऑफिशियल रूप से यहां नहीं कहा है कि वह बिटकॉइन की असली मालिक है माना जाता है कि उन्होंने बिटकॉइन की थ्योरी दी थी।

जब एलन मस्क ने बिटकॉइन के बारे में विवादित बयान दिया था तब एक व्यक्ति ने मास्क पहनकर हैकर की तरह कहा था कि एलन मस्क ने सही बयान नहीं दिया है।

लेकिन अभी तक बिटकॉइन के मालिक सतोषी नाकामोतो को माना जा रहा है। 

बिटकॉइन का मुख्यालय कहां है?

बहुत से लोगों के मन में सवाल होगा कि बिटकॉइन का मुख्यालय कहां है अभी तक बिटकॉइन को किसी भी अंतरराष्ट्रीय संस्था राष्ट्र संघ, विश्व बैंक, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष किसी ने भी मान्यता नहीं दी है और ना ही इस करेंसी को किसी भी देश के द्वारा लांच किया गया है।

अभी तक बिटकॉइन के मुख्यालय के बारे में कोई भी जानकारी सामने नहीं आई है।

बिटकॉइन इन डिजिटल करेंसी है जिसका लेनदेन पूरी तरीके से डिजिटल है। व्यक्ति बिटकॉइन को डिजिटल रूप से खरीद सकता है और डिजिटल रूप से ही प्रयोग कर सकता है। बिटकॉइन एक विकेंद्रीकृत करेंसी है इस करेंसी का एक जगह केंद्रीकरण नहीं हुआ है।

भारत में बिटकॉइन का भविष्य 2022

भारत में बिटकॉइन की भविष्य की बात करें तो अगर आरबीआई बैंक केजी सरकारी डिजिटल करेंसी निकालता है तो भारत में जो लोग बिटकॉइन में इन्वेस्ट कर रहे हैं उनका भविष्य खतरे में आ सकता है क्योंकि अगर आरबीआई बैंक अपनी करेंसी निकालेगा तो सभी लोग भारत में आरबीआई की डिजिटल करेंसी का प्रयोग करेंगे इसके अलावा अन्य देश के लोग भी लीगल होने के कारण आरबीआई की डिजिटल करेंसी का प्रयोग कर सकते हैं।

भारत में बिटकॉइन का भविष्य सुरक्षित नहीं है आरबीआई बैंक 2023 तक बिटकॉइन में बैन लगा सकता है क्योंकि बिटकॉइन से साइबर क्राइम भी बढ़ रहा है।

अगर आरबीआई बैंक आने वाले समय में बिटकॉइन को लीगल नहीं मानता है और अवैध घोषित कर देता है तो बहुत सारे लोगों का पैसा डूब सकता है।

बिटकॉइन के क्या फायदे हैं?

बिटकॉइन क्रिप्टो करेंसी के फायदे निम्नलिखित है जैसे:

1. बिटकॉइन ब्लॉकचेन पर आधारित होने के कारण सुरक्षित माना जाता है।

2. बिटकॉइन के प्रयोग से अंतरराष्ट्रीय व्यापार में सरलता आई है।

3. किसी भी देश की करेंसी को बिटकॉइन में बदला जा सकता है।

4. बिटकॉइन ब्लॉकचेन पर आधारित होने के कारण भ्रष्टाचार को कम करती है क्योंकि यहां पर सारा डाटा अलग-अलग कंप्यूटर और ब्लॉक पर बटा होता है।

बिटकॉइन के क्या नुकसान है?

जिस प्रकार बिटकॉइन के फायदे हैं उसी प्रकार उसके कुछ नुकसान भी हैं।

बिटकॉइन का सबसे बड़ा नुकसान यह है कि एक विकेंद्रीकृत डिजिटल मुद्रा है।

बिटकॉइन को हैंडल करने वाली कोई भी अंतरराष्ट्रीय संस्था नहीं है अगर भविष्य में किसी का भी पैसा डूबता है तो इसके लिए व्यक्ति खुद जिम्मेदार रहेगा।

बिटकॉइन का एक सबसे बड़ा नुकसान यह भी है बहुत इसे लीगल नहीं माना है।

बिटकॉइन के प्रयोग से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर साइबर क्राइम और आतंकवाद बढ़ सकता है।

फ्री में बिटकॉइन कैसे कमाए?

बहुत से लोग ऐसे होंगे जो फ्री में बिटकॉइन प्राप्त करना चाहते होंगे और यह संभव भी है ऐसी वेबसाइट और एप्लीकेशन है जो फ्री में बिटकॉइन देते हैं। फ्री में बिटकॉइन में बिटकॉइन को प्राप्त करने के लिए किसी भी बिटकॉइन ट्रेडिंग ऐप को डाउनलोड करके उसका एफिलिएट लिंक बनाकर अपने दोस्तों या अन्य ग्रुप में शेयर कर सकते हैं अगर आपके लिंक से कोई भी एप्लीकेशन को डाउनलोड करता है तो आपको ₹100 के बिटकॉइन प्राप्त हो जाएंगे इसके अलावा बहुत सारी ऐसी वेबसाइट है जो फ्री में बिटकॉइन देती है।

इंडिया में सबसे ज्यादा चलने वाला बिजनेस कौन सा है?

बिटकॉइन FAQ

बिटकॉइन क्या है?

बिटकॉइन एक डिजिटल विकेंद्रीकृत करेंसी है और यह ब्लॉकचेन पर आधारित है। बिटकॉइन करेंसी का प्रयोग ऑनलाइन रूप से किया जाता है।

बिटकॉइन किस देश की करेंसी है?

Bitcoin अभी तक किसी भी देश की करेंसी नहीं है यह एक विकेंद्रीकृत और डिजिटल करेंसी है।

क्या भारत में बिटकॉइन लीगल है?

2018 में आरबीआई बैंक ने बिटकॉइन पर बैन लगा दिया था लेकिन 2020 में सुप्रीम कोर्ट ने बिटकॉइन से बैन हटा दिया था। अभी तक भारत में बिटकॉइन को लीगल घोषित नहीं किया गया है।

1 बिटकॉइन की कीमत क्या है?

भारत में एक बिटकॉइन की कीमत ₹50,00000 से भी ऊपर है।

बिटकॉइन का मालिक कौन है?

बिटकॉइन का निर्माण करने वाले व्यक्ति का नाम नाकामोतो है। बिटकॉइन का मालिक अभी कौन है इस बारे में जानकारी नहीं है।

बिटकॉइन ब्लॉकचेन क्या है?

ब्लाकचैन टेक्नोलॉजी है जहां पर डाटा अलग-अलग ब्लॉक पर एक दूसरे से कनेक्ट होता है। अगर कोई भी बिटकॉइन को खरीदना है तो इसका डाटा एक कंप्यूटर में नहीं बल्कि हजारों कंप्यूटर में जाकर एकत्रित होता है। ब्लॉकचेन का प्रयोग सभी क्रिप्टो करेंसी में किया जा रहा है ब्लॉकचेन के कारण ही क्रिप्टो करेंसी सुरक्षित मानी जाती है बिटकॉइन के अलावा अन्य क्रिप्टो करेंसी में भी ब्लॉकचेन का प्रयोग किया जाता है।

बिटकॉइन को कैसे खरीदा जा सकता है?

बिटकॉइन को किसी भी ऑनलाइन वेबसाइट और एप्लीकेशन के माध्यम से खरीदा जा सकता है। प्ले स्टोर में बहुत सारे ऐसे एप्लीकेशन है जो बिटकॉइन करेंसी सेल और बाय करने के लिए हैं। वजीरएक्स एक बिटकॉइन ट्रेडिंग एप्स है यहां पर आप बिटकॉइन को खरीद सकते हैं और सेल कर सकते हैं।

Conclusion:

तो आपने इस लेख में बिटकॉइन और बिटकॉइन प्राइस हिस्ट्री के बारे में काफी कुछ जानकारी प्राप्त कर चुके है। क्रिप्टो करेंसी विकिपीडिया पर जाकर इसकी अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते है।

फाइनेंस से रिलेटेड और भी जानकारी के लिए moneyinnovate.com पर विजिट कर सकते है। धन्यवाद!

Also Read:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here