Pulse Oximeter क्या होता है? कैसे कार्य करता है और कितनी है कीमत पूरी जानकारी हिंदी में

0
164
pulse oximeter kya hai aur kaise kam karta hai

कोरोना संक्रमण के मामलों में हर दिन नया रिकॉर्ड टूट रहा है और सरकार तरफ से कई बड़े-बड़े फैसले लिए गए हैं। हाल ही में सरकार ने यह घोषणा की है की Home Quarantine मरीज है उनके लिए पल्स ऑक्सीमीटर (pulse oximeter) दिया जायेगा जो की काफी फायदेमंद होगी। अगर आप जानना चाहते है की आखिर pulse oximeter क्या है? पल्स ऑक्सीमीट कैसे काम करता है? ऑक्सीमीटर नार्मल रीडिंग कितना होना चाहिए साथी साथ pulse oximeter uses in Hindi में जानेंगे।

कई मरीजों को Home Quarantine इसलिए किया जा रहा हैं क्यूंकि वह हल्के लक्षण होते है जो अपने घर पर रह कर अपने आप को देख भाल कर सकते हैं। अस्पतालों में ऑक्सीजन की किल्लत बनी हुई है और सरकारी प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं। इसलिए कम लक्षण वाले मरीजों को घर पर ही रह कर होम आइसोलेशन में रिकवर होने की सलाह दे रहे है।

यदि आपको और आपके परिवार के किसी भी मरीज को डॉक्टर ने घर पर आइसोलेशन होने को कहा है तो आपको अपने शरीर के ऑक्सीजन लेवल (Oxygen level) को समय-समय पर जांच करते रहना चाहिए और यदि ऑक्सीजन का लेवल गिर रहा है तो बिना देरी किए मरीज को अस्पताल ले जाना चाहिए।

तो, चलिए जान लेते है की Pulse Oximeter क्या है? और कैसे काम करता है साथी-साथ आपकी पल्स ऑक्सीमीटर रीडिंग्स नार्मल रेंज कितना होना चाहिए?

यह भी पढ़े:

महिलाओं लिए पार्ट टाइम काम

पल्स ऑक्सीमीटर क्या है? What Is Pulse Oximeter In Hindi?

पल्स ऑक्सीमीटर (Pulse Oximeter) एक छोटा सा उपकरण होता है जिसे पोर्टेबल ऑक्सीमीटर (Portable oximeter) भी कहा जाता है। आपके शरीर में ऑक्सीजन का सैचुरेशन लेवल (oxygen saturation level) को मापने में हमारी मदद करता है।

जितने कोरोना मरीज घर पर हैं स्वास्थ्य विभाग के तरफ से Call करके समय-समय पर ऑक्सीजन लेवल पूछता है, जिससे ऑक्सीजन कम होने पर समय से अस्पताल पहुंचाया जा सके और जान बचा सके।

अस्पताल में एक बहुत बड़ा मशीन होता है जिसमे मरीजों के बारेमे पूरी जानकारी दे देता है लेकिन घर पर मशीन न होने के कारन से पल्स ऑक्सीमीटर (Pulse Oximeter) इस्तेमाल किया जाता हैं।

यही वजह है कि पल्स ऑक्सीमीटर की मांग बढ़ गई है और बाजार में इसकी पल्स ऑक्सीमीटर की कीमत बढ़ी है, उसके साथ कला बाजारी हो रहा हैं।

Pulse Oximeter कैसे करता है?

Pulse Oximeter एक छोटा सा डिवाइस है जिसे कोई भी इस्तेमाल कर सकते हैं। जब आपको Pulse Oximeter Use करना होता है तो उसे On करे और आप जिस हात से ज्यादा इस्तेमाल कर रहे है उसकी First Finger में फ़साये और कुछ एक सेकेंड में यह व्यक्ति के ऑक्सीजन स्तर को रीडिंग के माध्यम से स्क्रीन पर शो कर देता है। साथ ही यह शरीर में होने वाले छोटे से छोटे बदलाव को भी पकड़ लेता है।

Note: यह विडियो Khan GS Research Centre YouTube Channel से लिया गया है जसमे rt pcr test कैसे कराए और pulse oximeter kya hai? pulse oximeter uses in hindi में अच्छे जानकारी दी है। यदि आपको इस विडियो में Pulse Oximeter in hindi में जानकारी चाहिए तो 9:00 Minute के बाद देखे पूरी जानकारी मिल जायेगा।

Pulse Oximeter On करते ही आपको तिन चीज दिखाई देगा:

Saturated Pulse Oxygen % (SPO2): आप लोग सोचते होंगे की spo2 kya hota hai तो आपकी जानकारी के लिए बता दू की SPO2 ka full form Saturated Pulse Oxygen in % में होता हैं, यह आपकी Oxygen level को बताता है जो मिनिमम 94% होना चहिए।

Pulse Rate (PR): यह आपका दिल (Heart) का बीट कितना हैं। एक Normal व्यक्ति का heart beat 60–100 beats per minute होनी चाहिए| जो की Pulse Rate (PR) आपको बताता हैं।

Perfusion Index (PI): यह कोरोना मरीजों के लिए उतना खाश नहीं होता फिर भी आपको जानकारी के लिए बता दू की यह आपकी शरीर में कितने अन्दर तक Oxygen पहुच रहा है जो की 2-20% के बीच में होना चाहिए। अगर आपकी perfusion index (PI) 0.5 से कम है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से सलाह ले।

पल्स ऑक्सीमीटर रीडिंग्स नार्मल रेंज कितना होना चाहिए?

अगर एक स्वस्थ व्यक्ति के रक्त में ऑक्सीजन का सैचुरेशन लेवल देखा जाए तो वह  95 से 100 फीसदी के बीच होता है। यदि घर पर home quarantine है और आप की पल्स ऑक्सीमीटर रीडिंग 95 से काम यानि Oxygen level 92, 93 आ रहा है तो उस कोरोना संक्रमित मरीजों जल्द से जल्द अस्पताल ले जाने की जरुरत है।

इसलिए अपने कोरोना संक्रमित को हर घंटे पर Oxygen level जाँच करनी होती है और उसे सही समय पर इलाज़ हो सके।

कोरोना के मामले में कैसे मददगार?

अगर आपने करोना वायरस का सामना किये है तो आप जानते होंगे की यह कितना ख़तरनाक है और अगर नहीं हुए है तो आपको जानकारी के लिए बता दू की यह बहुत ही ख़तरनाक है जो पूरी दुनिया में अपना पैर फैला चुके हैं।

करोना हमारे फेफड़े (Lungs) पर अटैक (attack) करता है जिसे हमें सांस लेने में परेशानी होती हैं। जब भी किसी मरीज का Oxygen level कम होती है तो इस पल्स ऑक्सीमीटर (Pulse Oximeter) यानि पोर्टेबल ऑक्सीमीटर (Portable oximeter) के जरिये पता लगाया जा सकता है। इसलिए यह कोरोना के मामले में ज्यादा मददगार हैं।

कहां मिल सकता है और क्या कीमत होती हैं?

अगर आप जानना छाते है की Pulse Oximeter कहा से और पल्स ऑक्सीमीटर रेट क्या है कितनी कीमत पर खरीद सकते है तो आपकी जानकारी के लिए बता दू की आप इसे किसी भी बड़े मेडिकल दुकान से खरीद सकते हैं नहीं तो आप ऑनलाइन आर्डर करके इसे मंगवाया जा सकता हैं।

मार्किट में पल्स ऑक्सीमीटर (Pulse Oximeter) की कई Brand आ चुकी हैं अगर आपको इसे खरीदना है तो अपने डॉक्टर की सलाह अनुसार किसी भी brand का पल्स ऑक्सीमीटर (Pulse Oximeter) ले सकते हैं।

अगर पल्स ऑक्सीमीटर रेट यानि कीमत की बात करूँ तो इस समय यह 1 हजार से लेकर 3 हजार रूपए की कीमत देकर खेद सकते हैं।

Conclusion:

अगर आपको लगे की आपके घर में किसी को कोरोना संक्रमित है तो उसकी RT-TCR Test जरुर कराये जिसे आपको पता लग जायेगा सही में वह कोरोना से संक्रमित है या नहीं।

कोरोना संक्रमित होने के बाद अगर कम लक्षण है तो अपने घर पर डॉक्टर का लेकर इलाज़ करने की क्योंकि हॉस्पिटल में कोई bed खाली नहीं है और bed मिल भी गया तो आपका इलाज़ सही से नहीं हो पाएगा अप्पको लगे की मरीज ज्यादा सीरियस है तभी हॉस्पिटल जाने की कोसिस करे।

उम्मीद करता हु की आप Pulse Oximeter के बारेमे अच्छे से जान चुके है, अगर जानकारी में कुछ कमी लगे तो हमें comment करे हमारी टीम अपडेट करने का कोसिस करेगा।

Also Read:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here